Archives for Delhi

Delhi

एक घड़ी ख़रीदकर हाथ मे क्या बाँध ली.. वक़्त पीछे ही पड़ गया मेरे

बैठ जाता हूं मिट्टी पे अक्सर… क्योंकि मुझे अपनी औकात अच्छी लगती है.. मैंने समंदर से सीखा है जीने का सलीक़ा, चुपचाप से बहना और अपनी मौज में रहना...
Continue Reading »
Delhi

गरीब लोगो पर अत्याचार – दिल्ली का एक रिक्शावाला

एक रिक्शावाला थक हार एक रोड के एक साइड मैं अपना रिक्शे पर आराम कर रहा था , तभी एक बस आती है और रिक्शे से टकरा जाती है...
Continue Reading »